हाथरस से खबर: हाथरस के एआरटीओ को गलत तरीके से वाहन ट्रांसफर करने के आरोप में गैर जमानती वारंट जारी किया गया है.

विस्तार

फिरोजाबाद की मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मीनाक्षी सिन्हा ने गलत तरीके से वाहन स्थानांतरित करने के आरोप में गैर जमानती वारंट जारी कर एआरटीओ नीतू सिंह को 22 मार्च को अदालत में तलब किया है. नीतू सिंह फिलहाल हाथरस एआरटीओ प्रशासन के पद पर तैनात हैं।

मामला फिरोजाबाद के थाना मतसेना स्थित एआरटीओ कार्यालय का है। आगरा जिले के शमशाबाद के धीमश्री गांव निवासी उमा शंकर ने आरोप लगाया था कि उसने वर्ष 2017 में अपने चालक अनिल कुमार को वाहन क्रमांक यूपी 83 एडी 5719 का फाइनेंस कटवाने के लिए एआरटीओ कार्यालय डबरई भेजा था. लेकिन तत्कालीन एआरटीओ नीतू सिंह ने गलत तरीके से उक्त वाहन को अपने एक परिचित के नाम ट्रांसफर करा लिया। इसकी शिकायत उनसे की, लेकिन उन्होंने शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया।

इसके बाद वह इस मामले को कोर्ट में ले गए। जिसके संबंध में मामला सीजेएम कोर्ट में विचाराधीन है। इस मामले में कोर्ट में लगातार तारीख दी जा रही है. एआरटीओ नीतू सिंह के पेश नहीं होने के कारण कोर्ट लगातार तारीखें दे रहा है. पीड़ित पक्ष के अधिवक्ता हरिओम शर्मा ने बताया कि वारंट जारी करते समय उक्त अधिकारी के न्यायालय में उपस्थित न होने के कारण 22 मार्च को न्यायालय में उपस्थित होने का आदेश दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *