उत्तर प्रदेश समाचार | भारी निवेश के बाद यूपी क्षेत्र में जमीन विस्तार की होड़

1 min read

नंदी

-राजेश मिश्रा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में ग्लोबल इन्वेस्टर्स कांफ्रेंस में हुए भारी निवेश के बाद अब नए उद्यमों की स्थापना के लिए जमीन उपलब्ध कराने की कवायद तेज की जा रही है। योगी सरकार (Yogi Govt.) ने बीमार और बंद पड़े उद्योगों की जानकारी दो सप्ताह के भीतर देने को कहा है, ताकि उन पर नए उद्यम स्थापित किए जा सकें. साथ ही प्रदेश के विभिन्न जिलों में लैंड बैंक बढ़ाने के भी निर्देश दिये हैं.

उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (UPCIDA) को अगस्त माह में प्रस्तावित प्रथम ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (GBC) के दौरान 1.60 लाख करोड़ रुपये की निवेश परियोजनाओं को शुरू करने के लक्ष्य के साथ उद्योगों के लिए भूमि की व्यवस्था करने के लिए कहा गया है। . राज्य के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने अधिकारियों को निर्धारित लक्ष्य को जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दिया. मंत्री नंदी ने कहा कि प्रदेश में निवेशकों की कोई कमी नहीं है। बड़ी संख्या में निवेशक यहां निवेश करने को तैयार हैं, इसलिए लैंड बैंक बढ़ाने की व्यवस्था की जाए।

इन जिलों में बढ़ा लैंड बैंक

प्राधिकरण के अधिकारियों ने बताया कि उद्योगों को आवंटित होने वाले रायबरेली, बाराबंकी, हाथरस, लखनऊ, हरदोई, चित्रकूट, प्रतापगढ़ आदि जिलों में लैंड बैंक बढ़ा दिया गया है. अधिकारियों के मुताबिक लखनऊ और उन्नाव जिले में लॉजिस्टिक पार्क बनकर तैयार हैं और जल्द ही जमीन आवंटन का काम शुरू किया जाएगा. उनके अनुसार यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में यूपीसीडा में हुए एमओयू के संबंध में 54 हजार करोड़ रुपये के एमओयू धरातल पर उतरने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. यूपीसीडा के एमओयू प्रस्ताव में आईटी को भी शामिल किया गया है।

इसे भी पढ़ें

चित्रकूट के पास अन्य जमीन भी खरीदने के निर्देश

यूपीसीडा के अधिकारियों ने स्कूटर इंडिया को नए उद्यम स्थापित करने के लिए जमीन मिलने की जानकारी दी। साथ ही बताया कि हाथरस में 550 एकड़ जमीन का कब्जा मिल गया है। यहां कंसल्टेंट कंपनी ने ले आउट तैयार कर लिया है और 2000 करोड़ रुपये के एमओयू धरातल पर उतरने को तैयार हैं. इसके अलावा चित्रकूट में 67 एकड़ ग्राम सभा भूमि निःशुल्क प्राप्त हुई है। जिस पर मंत्री नंदी ने इसे 200 एकड़ बनाने का लक्ष्य दिया। बताया जाता है कि आसपास के इलाके में ग्राम सभा की काफी जमीन खाली पड़ी है। चित्रकूट के पास अन्य जमीन भी खरीदने का निर्देश दिया।

मंत्री नंदी ने ये निर्देश दिए

मंत्री नंदी ने सभी क्षेत्रीय प्रबंधकों को निर्देश देते हुए कहा कि दो सप्ताह के भीतर सभी क्षेत्रीय प्रबंधक अपने-अपने औद्योगिक क्षेत्रों में बीमार और बंद औद्योगिक इकाइयों की पूरी सूची तैयार कर प्रस्तुत करें. उन्होंने कहा कि 90 दिन बाद उद्योगों को 60 दिन का समय दिया जाएगा। इसके बाद पेनाल्टी लगाई जाएगी। नंदी ने कहा कि भारतीय विनिर्माण क्लस्टर प्रयागराज में लंबित कार्य 31 जुलाई तक पूर्ण कर लिए जाएं। उन्होंने परफ्यूम पार्क कन्नौज में 57 एकड़ भूमि पर दो चरणों में कार्य करने के निर्देश दिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed