वाराणसी न्यूज | 7-8 जुलाई को दो दिवसीय वाराणसी दौरे के दौरान पीएम मोदी, सीएम योगी ने काशी में सभा स्थल का निरीक्षण कराया.

1 min read

 

सीएम योगी

फ़ाइल फ़ोटो

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काशी दौरा 7 और 8 जुलाई को प्रस्तावित है. इससे पहले मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाराणसी पहुंचे और जनसभा स्थल वाजिदपुर का निरीक्षण किया. योगी आदित्यनाथ ने सर्किट हाउस में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की और आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जी-20 कार्यक्रम के दौरान की गई विद्युत सजावट की तरह ही प्रधानमंत्री के आगमन पर शहर को लाइटिंग से सजाया जाए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रावण मास के पहले दिन श्री काशी विश्वनाथ मंदिर और काल भैरव के दर्शन किये।

सावन के पहले दिन मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काशी पहुंचे। बाबतपुर एयरपोर्ट से सीधे वह प्रधानमंत्री की प्रस्तावित जनसभा स्थल वाजिदपुर पहुंचे। सभास्थल का निरीक्षण करने के बाद योगी आदित्यनाथ ने सर्किट हाउस में अधिकारियों के साथ बैठक की.

‘प्लास्टिक मुक्त काशी’ अभियान चलाया जाए

उन्होंने सभी को श्रावण मास की बधाई देते हुए कहा कि यह सौभाग्य की बात है कि प्रधानमंत्री श्रावण मास में ही वाराणसी आ रहे हैं. सीएम ने शहर की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत बताते हुए कहा कि अगले दो दिनों तक ‘प्लास्टिक मुक्त काशी’ का अभियान चलाया जाए. उन्होंने लोक निर्माण विभाग, नगर निगम, विकास प्राधिकरण और एनएचएआई के इंजीनियरों को युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का आदेश दिया। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के साथ ही उन्होंने विद्युत विभाग के अभियंताओं को श्रावण माह के दौरान वाराणसी में निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. कार्यक्रम में अन्य जिलों से आये लाभार्थियों की सुरक्षा एवं सुविधा पर विशेष ध्यान दिया गया।

कार्यक्रम स्थल पर बिजली के तार खुले नहीं होने चाहिए

मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग तथा फायर ब्रिगेड के अधिकारियों को निर्देश दिये कि आयोजन स्थल पर सुरक्षा मानकों का हर हाल में पालन सुनिश्चित किया जाये। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि बरसात के मौसम में कार्यक्रम स्थल पर कोई भी बिजली का तार खुला न रखा जाये, नये तार लगाये जायें.

ये भी पढ़ें

तत्काल अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिया

सीएम ने पुलिस के आला अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि यातायात व्यवस्था को पूरी तरह से सुव्यवस्थित बनाए रखा जाए. रूट डायवर्जन की जानकारी जनता को समय से उपलब्ध कराई जाए, ताकि लोगों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। सड़कों पर मवेशी एवं आवारा जानवर खुलेआम घूमते नजर नहीं आने चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को शहर की यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने के लिए सड़कों पर अतिक्रमण नहीं होने देने का निर्देश देते हुए कहा कि जहां भी अतिक्रमण है, उसे तत्काल हटाया जाये. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि काशी की छवि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा के अनुरूप दिखनी चाहिए. बैठक में कमिश्नर और पुलिस अधिकारी ने डिजिटल प्रेजेंटेशन देकर प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को लेकर अब तक की गई तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

श्रावण मास के प्रथम दिन बाबा के दर्शन किये

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रावण मास के पहले दिन श्री काशी विश्वनाथ मंदिर और काल भैरव के दर्शन किये। इससे पहले जून में काशी पहुंचे मुख्यमंत्री ने तीन बार भी दर्शन-पूजन किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed