केशव प्रसाद मौर्य की पहल की बदौलत एक तकनीकी समस्या का समाधान होने के बाद ग्रामीण विकास विभाग को अपग्रेड किया गया।

1 min read

 

केशव प्रसाद मौर्य की पहल से अपग्रेड हुए ग्राम्य विकास विभाग, टेक्निकल समस्या हुई हल

  • सीयूजी सिम अपग्रेड होने से मिल रही हाई स्पीड इंटरनेट सेवा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) की पहल और उनके निर्देशन में ग्राम विकास (Rural development department)  विभाग संचार व संवाद सिस्टम को अपग्रेड (Upgrade) कर योजनाओं के क्रियान्वयन में गति दी जा रही है। प्रयास यह भी है कि जहां अधिकारियों, कर्मचारियों की पूरी प्रतिभा और योग्यता  उपयोग गांव-गरीब के शैक्षिक, सामाजिक व आर्थिक उत्थान व उन्नयन मे में किया जाए, वहीं उनकी सुविधाओं का भी पूरा ख्याल रखा जाय। सूचनाओं के आदान-प्रदान में अनावश्यक विलम्ब न हो, इस हेतु भी उप मुख्यमंत्री लगातार विभागीय अमले को सजग करते रहते हैं। इसी कड़ी में उप मुख्यमंत्री के निर्देश पर विभाग  ने महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए ग्राम्य विकास विभाग द्वारा जनपदों में तैनात अधिकारियों को उपलब्ध कराए गए CUG नंबरों को 4G/5G नेटवर्क में अपग्रेड करा दिया गया है। 4G/5G सिम मिलने के बाद कर्मियों को अधिक और तेज स्पीड का मोबाइल डाटा भी उपलब्ध हो रहा है। जिससे योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट ऑनलाइन पोर्टल पर तेजी से अपडेट हो रही है, साथ ही योजनाओं की निगरानी करना भी सुलभ और आसान हुआ है।

टेक्निकल ऑडिट टीम को भी मिलेंगे सीयूजी नंबर
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा तकनीकी आडिट टीम  की भी सुविधाओं व सहूलियतों का ध्यान रखा जा रहा है और विभाग में टेक्निकल ऑडिट टीम को भी सीयूजी सिम उपलब्ध कराने के निर्देश जारी किए गए हैं। विभाग में अधिकारियों एवं कार्मिकों को सीयूजी नंबर उपलब्ध कराने का मुख्य उद्देश्य यह है कि अधिकारियों एवं कर्मियों की हर समय उपलब्धता रहे। इसके साथ ही सीयूजी नंबरों के माध्यम से आम लोगों और विभागीय अधिकारियों के बीच की दूरी को भी कम किया जा सके। ऐसे में आम लोग अपनी किसी भी समस्या के लिए किसी भी समय अधिकारियों तक पहुंच सके। 4G/5G में सिम अपग्रेड होने से तकनीकी रूप से अधिकारी/कार्मिक और सक्षम भी होंगे।

यह भी पढ़ें

मुख्य विकास अधिकारियों को नेटवर्क कंपनी में पोर्ट/MNP कराने का अधिकार

ग्राम्य विकास आयुक्त श्री जी एस प्रियदर्शी द्वारा  सभी जिलों के मुख्य विकास अधिकारियों को बड़ा अधिकार दिया गया है। अब सभी सीडीओ स्थानीय स्तर पर बेहतर सेवा देने वाली नेटवर्क कंपनी में सीयूजी सिम को पोर्ट या MNP करा सकते हैं। अब वो किसी भी नेटवर्क कंपनी के लिए बाध्य नहीं होंगे, बल्कि जो अच्छा नेटवर्क उपलब्ध होगा, उस कंपनी की 4G/5G सिम में नंबर को पोर्ट/MNP करा सकेंगे, और उसकी इंटरनेट सेवा के साथ कॉलिंग सुविधा का बेहतर इस्तेमाल कर सकेंगे। बताया गया कि  विभागीय सीयूजी नंबर को अपग्रेड करने का काम तेजी से किया जा रहा है। सीडीओ, बीडीओ, डीडीओ, जेडीसी के CUG नंबर 4G/5G में अपग्रेड किए जा चुके हैं,और  संयुक्त खंड विकास अधिकारियों, सहायक विकास अधिकारी(आई एस बी) एवं ग्राम विकास अधिकारियों को भी 4G/5G सीयूजी नंबर दिये जाने का मसौदा तैयार किया जा रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *