Ayodhya Ram Mandir: रामलला के प्राण-प्रतिष्ठा से पहले 60 घंटे तक चलने वाला यज्ञ 1500 साल बाद देश का सबसे बड़ा धार्मिक उत्सव होगा।

1 min read

 

अयोध्या: 22 जनवरी 2024 (22 January 2024) को अयोध्या के राम मंदिर (Ram Mandir Ayodhya) में भगवान श्रीराम (Lord Shree Ram) की प्राण-प्रतिष्ठा होने जा रही है। 121 वैदिक और कर्मकांडी ब्राह्मणों (Brahmins) के साथ यह भारत का सबसे बड़ा धार्मिक अनुष्ठान (Biggest Religious Ritual) होगा। काशी के पंडित लक्ष्मीकांत मथुरादास दीक्षित (Pandit Laxmikant Mathuranath Dixit) के नेतृत्व में 50 ब्राह्मणों की टीम 16 से 22 जनवरी तक अयोध्या में रहेगी। प्राण प्रतिष्ठा से पहले कुल 60 घंटे तक यज्ञ, हवन, 4 वेदों का परायण और कर्मकांडों का वाचन होगा।

काशी के वैदिक ब्राह्मणों और इतिहासकारों का कहना है कि 1500 साल बाद देश में इस तरह का भव्य धार्मिक अनुष्ठान देखने को मिलेगा। कन्नौज के महान हिंदू शासक हर्षवर्धन के काल में प्रयाग में दान-पुण्य के बाद भव्य यज्ञ-अनुष्ठान के बारे में सुना-पढ़ा गया था। इसका प्रमाण हर्षवर्धन के बांसखेड़ा अभिलेख में है। उसके बाद ऐसा कोई प्रमाण नहीं मिला है।

यह भी पढ़ें

रामलला के प्राण-प्रतिष्ठा के लिए अयोध्या में तैयारी जमकर हो रही है। साथ ही मंदिर का निर्माण कार्य भी अपनी अंतिम चरण पर है। 22 जनवरी को होने वाले इस भाव कार्यक्रम के लिए खुद उत्तर प्रदेश सीएम योगी आदित्यनाथ इसकी निरीक्षण कर रहे हैं। यहां आने वाले लोगों के लिए भी व्यवस्था की जा रही है।

रामलला के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के लिए देश के कई दिग्गज भी अयोध्या पहुंचने वाले हैं। जिसमें देश के प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह भी शामिल है। इसके अलावा क्रिकेट के दिग्गज सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली और रोहित शर्मा भी यहां आ सकते हैं। इनके अलावा भी कई हस्तियां राम मंदिर के उद्घाटन के दिन अयोध्या आ सकती हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *