प्रधानमंत्री मोदी का आंध्र प्रदेश दौरा: 486 साल पुराने लेपाक्षी मंदिर भी जा सकते हैं, NACIN इंस्टीट्यूट का इनॉगरेशन करेंगे

1 min read

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को आंध्र प्रदेश के श्री सत्यसाई जिले के पलासमुद्रम का दौरा करेंगे। यहां वह नेशनल एकेडमी ऑफ कस्टम, इनडायरेक्ट टैक्स एंड नार्कोटिक्स (NACIN) इंस्टीट्यूट का इनॉगरेशन करेंगे।

 

पीएम मोदी दोपहर 3:30 बजे पलासमुद्रम पहुंचेंगे और शाम को दिल्ली लौट आएंगे। वापस जाने से पहले PM के 486 साल पुराने लेपाक्षी मंदिर जाने की भी उम्मीद है। प्रशासन ने इसके लिए पूरी तैयारी भी कर ली।

NACIN इंस्टीट्यूट में बने सेंटर देखेंगे
राज्य सरकार की तरफ से जारी प्रेस नोट के मुताबिक, पीएम NACIN ऑफिस के फर्स्ट फ्लोर पर बने स्मगलिंग सेंटर, नार्कोटिक्स स्टडी सेंटर और वाइल्ड लाइफ डिटेक्शन सेंटर को देखने जाएंगे।

वह ग्राउंउ फ्लोर पर बने एक्स-रे और बैगेज स्क्रीनिंग सेंटर को भी देखेंगे। फिर एजुकेशन ब्लॉक का दौरा करेंगे। वह कुछ ट्रेनी IRS अधिकारियों के साथ भी बातचीत करेंगे।

486 साल पुराने लेपाक्षी मंदिर भी जा सकते हैं
आंध्र प्रदेश सरकार के मुताबिक, दिल्ली रवाना होने से पहले मोदी के लेपाक्षी मंदिर जाने की भी उम्मीद है। यह मंदिर करीब 486 साल पुराना है। मंदिर को ‘हैंगिंग पिलर टेंपल’ के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर में कुल 70 खंभे हैं, जिसमें से एक खंभे जमीन से जुड़ा नहीं है। वो रहस्यमयी तरीके से हवा में लटका हुआ है।

अब जानिए क्या है NACIN
आंध्र प्रदेश में NACIN की स्थापना को केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम 2014 के तहत मंजूरी दी थी। 2022 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कैंपस के भूमि भूजन में हिस्सा लिया था। तब निर्मला ने कहा था कि इंस्टीट्यूट के लिए पहले चरण में 729 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे।

IAS अधिकारियों को जिस तरह मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री एकेडमी और IPS अधिकारियों को हैदराबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल एकेडमी में ट्रेनिंग दी जाती है। उसी तरह आंध्र प्रदेश के पलासमुद्रम में बना NASIN इंस्टीट्यूट IRS अधिकारियों को ट्रेनिंग देगा।

PM चार दिन पहले नासिक में थे, मंदिर में पोछा लगाया था

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नासिक के पंचवटी स्थित कालाराम मंदिर परिसर में पोछा भी लगाया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 जनवरी को महाराष्ट्र पहुंचे थे। यहां सबसे पहले उन्होंने नासिक में डेढ़ किमी का रोड शो किया था। इसके बाद कालाराम मंदिर में पूजा-अर्चना की। मोदी ने दक्षिण की गंगा कही जाने वाली गोदावरी में गंगा पूजा भी की थी।

प्रधानमंत्री ने स्वामी विवेकानंद की जयंती के मौके पर नासिक में 27वें नेशनल यूथ फेस्टिवल का उद्घाटन किया। फिर मुंबई में अटल सेतु उद्घाटन किया। इसके बाद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि अटल सेतु, विकसित भारत की तस्वीर है। विकसित भारत कैसा होने वाला है, उसकी एक झलक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed