राष्ट्रीय सम्मेलन:भारत को महाशक्ति बनाने पर मंथन हुआ , वहीं 50 से अधिक शोध पत्र पेश हुए

1 min read

भारत को महाशक्ति बनाने के लिए सभी भारतीयों को अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी से निभानी होगी। यह बातें मुख्य अतिथि निदेशक यूजीसी एचआरडीसी एएमयू अलीगढ़ डॉ. फैजा अब्बासी ने श्री रामेश्वरदास कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के समापन समारोह में कहीं।

 

संगोष्ठी का विषय मेकिंग इंडिया सुपरपावर इन अमृत काल प्रोस्पेक्टस एंड चैलेंज रहा। मुख्य अतिथि ने कहा कि इस अमृत काल में हम विश्व की महाशक्ति बन सकते हैं। पूर्व कुलपति डॉ. भीमराव आंबेडकर विवि के प्रोफेसर सुगम आनंद ने कहा कि भारत को बनाने में महिलाओं की भूमिका अति महत्वपूर्ण है, इसलिए ग्रामीण क्षेत्र व शहर की मलिन बस्तियों में रहने वाली सभी महिलाओं को स्वावलंबी बनाना होगा। कॉलेज की प्राचार्या प्रोफेसर सुषमा यादव ने कहा कि भारत को विश्व शक्ति बनाने में भारतीय महिलाओं की भागीदारी अति महत्वपूर्ण है।

संगोष्ठी की रिपोर्ट अध्यक्ष अंग्रेजी विभाग प्रोफेसर संगीता अरोड़ा ने प्रस्तुत की। विभिन्न तकनीकी सत्रों में लगभग 100 से अधिक शिक्षाविद, शोधार्थी व विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। संगोष्ठी के विभिन्न उप-विषयों पर 50 से अधिक शोध पत्र प्रस्तुत किये गए। संचालन प्रोफेसर रंजना सिंह गृहविज्ञान विभाग व डाॅ. अनुपम भारद्वाज अंग्रेजी विभाग ने किया। विशिष्ट अतिथि प्रो. वीके गंगल दीनदयाल वाणिज्य संकाय दयालबाग आगरा, डाॅ. सुमित कपूर, प्रबंध समिति सचिव प्रदीप कुमार गोयल, सेमिनार संयोजिका प्रोफसर रंजना गुप्ता, आयोजक सचिव डाॅ. अंजू आर्य आदि मौजूद रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed