उत्तर प्रदेश: अमृत वाटिकाओं को सुरक्षित व संरक्षित रखने के लिए उन पर विशेष ध्यान दिया जाए: केशव प्रसाद मौर्य.

1 min read

 

Keshav Prasad Maurya

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वह वृक्षारोपण के दौरान लगाए गए पौधों, खासकर अमृत वाटिकाओं (Nectar Garden) में लगाए गए पौधों पर विशेष रूप से नजर रखें, उनकी सिंचाई, बैरिकेडिंग, मिट्टी को उपजाऊ बनाने, खरपतवार हटाने की व्यवस्था अनवरत रूप से बनाये रखी जाए।

वृक्षारोपण के पश्चात रोपित पौधों की जीवितता सुनिश्चित करने के ठोस व प्रभावी उपाय किये जाए। उन्होंने कहा है कि पौधों को लगाने से कहीं ज्यादा  उन्हें बचाना आवश्यक है, कहा है कि पर्यावरण संरक्षण और संवर्धन के लिए सरकार लगातार प्रयत्नशील है। कहा कि परमार्थ का भाव रखते हुए वृक्षारोपण व पौधों की जीवितता बनाये रखने में समाज का प्रत्येक व्यक्ति सहयोग करें। आने वाली पीढ़ियों के लिए वृक्ष लगाने व बचाने का प्रयास हम सब लोगों को करना है।

यह भी पढ़ें

ग्राम्य विकास आयुक्त जी एस प्रियदर्शी ने बताया कि इस वर्ष ग्राम्य विकास विभाग को 12.77 करोड़ पौधों के रोपण का लक्ष्य दिया गया। लक्ष्य के सापेक्ष 85.71 प्रतिशत पौधरोपण 22 जुलाई को किया गया, शेष वृक्षारोपण लक्ष्य से आगे बढ़कर 15 अगस्त को पूर्ण किया गया। ग्राम्य विकास विभाग के समस्त सम्बंधित को निर्देशित किया गया है कि वह पौधों की जीवितता सुनिश्चित कर हर संभव उपाय करें। अमृत वाटिकाओं व शिलाफलकम् को चिर स्थायी बनाने के लिए विभाग सतत प्रयत्नशील है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed